About Us
Current location: Home>>Manager's Message

प्रबन्धक सन्देश

शिक्षा समाज की नीव है| शिक्षा के माध्यम से ही मानव अपने सपने को साकार रूप प्रदान कर सकता है| गुरु छात्र का प्रथम रूप है, और छात्र गुरु का द्वितीय रूप है| गुरु के सकारत्मक सहयोग से शिष्य अपने जीवन की राह चुनने में समर्थ हो जाता है| आज भौतिकता के युग में मानव नई खोज कर रहा है| शिक्षा न केवल व्यक्तित्व का सर्वागीण विकास करती है, बल्कि सामाजिक एवं संस्कृतिक विरासत का संरक्षण भी करती है| यहाँ पर छात्र एवं छात्राओं के हित में शैक्षिक वातावरण का समावेश किया गया है| जिससे नवीन भारत के निर्माण में ये छात्र अपना पूर्ण सहयोग प्रदान कर सके| मेरा प्रयास है की ग्रामीण क्षेत्र के छात्र एवं छात्राओं का सर्वागीण विकास हो| क्योकि नई पीढ़ी अपनी संस्कृति के प्रति आस्था और निष्ठा उसी शिक्षा के माध्यम से रख सकती है जिसका आधार उसकी संस्कृति हो| महाविद्यालय का प्रयास है की शिक्षा के द्वारा छात्र एवं छात्राए समाज की नवीन धारा में जुड़ सके| ग्रामीण क्षेत्र के विधार्थी समाज में गतिशीलता प्रदान करके शिक्षा की प्रक्रिया में हमारा सहयोग करे| मेरा ऐसा विश्वास की शिक्षा की प्रक्रिया में सहयोग प्रदान करके मै अपनी परिकल्पना को पूर्णता प्रदान कर सकता हूँ| ईश्वर मेरे इस उद्देश में मेरा मार्गदर्शन करे व महाविद्यालय उज्जवल शैक्षिक वातावरण बनाने के सपने को साकार रूप प्रदान करे|

सधन्यवाद !
श्री सत्यप्रकाश सिंह
प्रबन्धक

*
-